Spread the love

कंप्युटर विज्ञान विभाग द्बारा अतिथि व्याख्यान एवं अकादमिक परीक्षण का आयोजन हुआ।

02 मार्च 2021 को दिग्विजयनाथ पी जी कॉलेज गोरखपुर के कम्प्यूटर विज्ञान विभाग में प्रातः 11:00 बजे अतिथि व्यख्यान एवं अकादमिक परीक्षण का आयोजन दो सत्रों में हुआ।

प्रथम सत्र में मुख्य अतिथि प्रोफ. उपेंद्र नाथ त्रिपाठी ,विभागाध्यक्ष,कम्प्यूटर विज्ञान विभाग,दी.द.उपाध्याय,गोरखपुर विश्वविद्यालय गोरखपुर ने ” एडवांटेज ऑफ इफेक्टिव ई-लर्निंग कंटेंट” विषय पर बोलते हुए कहा कि ई-लर्निंग के कई फायदे है और ये आपके सिखने के अनुभव को बदल सकता है. आज अगर आपको किसी क्षेत्र के बारे में जानकारी चाहिए तो आप इंटरनेट पर उसे खोज सकते हैं।

इसके अलावा कई ऐसे ऑनलाइन रिसोर्सेज मौजूद है, जहां से आप किसी भी विषय को आसानी से सीख सकते है. कुल मिलाकर इ-लर्निंग ऑफलाइन संसाधनों की कमी को पूरा करता है और आपके सिखने के रास्ते में आ रही रुकावटों को दूर करता है। आज कई लाखों स्टूडेंट उनके विषयों को ऑनलाइन स्टडी करते है. इ-लर्निंग सिर्फ यही तक सीमित नहीं है, बल्कि कई शिक्षण संस्थान भी ई-क्लासरूम को बढ़ावा दे रहे है. एक सर्वे में निकल कर आया है, कि परंपरागत शिक्षण में सीखने के मुकाबले ऑनलाइन सीखना ज्यादा आसान होता है.

प्रोफ. त्रिपाठी ने आगे बोलते हुए कहा कि पर्यावरण के हिसाब से भी ई-लर्निंग को बढ़ावा मिला क्योंकि ये एक पेपरलेस लर्निंग है. पारम्परिक शिक्षा के अंतर्गत उन विद्यार्थियों को ही बेहतर शिक्षा मिल पाती है, जो अच्छे कॉलेज से शिक्षा प्राप्त करते है।जबकि ई-लर्निंग के अंतर्गत आप अपने हिसाब लर्निंग रिसोर्सेज को चुन सकते है. तो परंपरागत लर्निंग की ऐसी ही कई समस्याओ को हल करने के लिए ई-शिक्षा के कांसेप्ट को लाया गया था। द्वितीय सत्र में प्रोफ त्रिपाठी ने कम्प्यूटर विभाग का अकादमिक परीक्षण किया जिसमें विभागीय प्रमाण पत्रों की जांच एवं विद्यार्थियों व विभाग के शिक्षकों और कर्मचारियों के साथ बैठक भी हुई।

जिसमें अकादमिक गतिविधियों पर चर्चा हुई। कार्यक्रम का संयोजन कम्प्यूटर विभाग प्रभारी श्री पवन कुमार पाण्डेय ,असिस्टेंट प्रोफेसर,कम्प्यूटर विज्ञान द्वारा किया गया। इस अवसर पर विज्ञान संकाय के शिक्षकों ,कर्मचारी एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

कंप्युटर विज्ञान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *